Wednesday, 28 October 2015

पी.आर एक ट्रैफिक सिग्नल

दुनिया विकास की ओर तेजी से बढ़ रही है | खासकर भारत इस राह में सबसे आगे माना जा रहा है | हमारे देश की कम्पनियां भी तरक्की कर रही है | पर कंपनियां तरक्की करने के साथ साथ अपनी ब्रांड का प्रोमोशन ज्यादा चाहती है, परंतु प्रोमोशन सही मायने में और सही दिशा में हो रहा है यह मैटर करता है | इसलिए आज की सबसे बड़ी इंडस्ट्री, पी आर इंडस्ट्री है जो कि ब्रांड प्रोमोशन करने का बीड़ा उठाती है | पीआर एजेंसी (PR Agency)के काम करने का अलग अलग तरीका होता है | मेरा मानना है कि यह पी आर एजेंसी ठीक उसी तरह काम करती है जैसे चौराहे पर लगी ट्रैफिक सिग्नल काम करती है |

ट्रैफिक सिग्नल की तीन बत्तियां अलग-अलग संकेत देती है और यह लोगों की जान बचाने के साथ साथ उनकी दिशा निर्देश करने में भी मदद करती है | पी आर एजेंसी भी ठीक उसी प्रकार अपने क्लाइंट का दिशा निर्देश करने में मदद करती है|

आजकल सभी इंडस्ट्री में कॉम्पीटिशन अपने चरम पर है सभी एक दुसरे से आगे निकलना चाहते हैं ठीक उसी तरह जैसे सड़कों पर गाड़ियाँ एक दुसरे से आगे निकलना चाहती है | जरा सोचिये अगर ट्रैफिक सिग्नल की लाल बत्ती ना हो तो कितनी दुर्घटना घट सकती है | ठीक उसी प्रकार क्लाइंट जब संकट में होता है, उसकी साख खतरे में होती है तो पीआर एजेंसी का सबसे बड़ा हथियार ‘संकट प्रबंधन’ (लाल बत्ती ) के जरिए उस खतरे को समाप्त करने की कोशिश करती है |

हरा बत्ती जलते ही गाड़ियों का आवाजाही सामान्य तरीके से शुरू हो जाती है | वैसे ही पी आर एजेंसी अपने इवेंट मैनेजमेंट और विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से क्लाइंट का ब्रांड प्रोमोशन को सुचारू रूप से कार्यरत करती है | ट्रैफिक सिग्नल की पीली बत्ती संकेत देती है की वें आगे बढ़ने के लिए तैयार हो जाए आपके लिए रास्ता खुलने वाली है | वैसे ही पीआर एजेंसी अपने अनोखे आईडिया और नई सोच को क्लाइंट के सामने रखते हैं और उन्हें लागू करने के तरीकों को भी बताते हैं |

अतः जिस बखूबी से ट्रैफिक सिग्नल लोगों की जान बचाने के साथ साथ उनका दिशा निर्देश भी करती है वैसे ही
पीआर एजेंसी आज के कंपनियों का ब्रांड प्रोमोशन करने और उन्हें ख्याति पहुँचाने में सबसे ज्यादा मददगार साबित हो रही है |

The author of this opinion article is Mr. Anil Kumar  Deputy Manager - IT & BD at PR Professionals 

No comments:

Post a Comment